Viral Fact Now

Thursday, August 30, 2018

महिलाओं को गले लगाकर और चुम्मा लेकर इलाज करने वाला Chumma Baba हुआ गिरफ्तार

chumma baba arrested from assam, महिलाओं को गले लगाकर और चुम्मा लेकर इलाज करने वाला Chumma Baba हुआ गिरफ्तार

एक के बाद एक लगातार कोई न कोई बाबा या अपने आप को धर्मगुरु मानने वाले कई लोगों के कुछ न कुछ आपराधिक मामले सामने आ रहे हैं और तो और कईओं को कड़ी सजा मिलने के बाद भी एक नए बाबा तैयार हो जाते हैं। जो शायद बाबा तो नहीं होते बल्कि अपने-आपको धर्म गुरु बताकर उन धर्मगुरुओं का नाम बदनाम कर देते हैं जो सच में धर्मगुरु हैं और लोगों को सच्चाई और अच्छाई की तरफ बुलाने के प्रयास में लगे रहते हैं।


अब यही देख लीजिये चुम्मा बाबा! अब इनके जो कृत्य हैं।  ये जिस प्रकार से अपने भक्तों का इलाज कर रहे थे, उसे सुनकर आपको जरूर वो ट्रेन वाला जोक याद आ जायेगा जो ऐसे है कि ... एक ट्रेन में एक लड़का और लड़की साथ में सफर कर रहे थे, तभी लड़की के सर में दर्द होने लगा, जब लड़की ने लड़के से यह बात बताई तो लड़के ने उसके माथे को चूम लिया और कहा अब दर्द ठीक हुआ की नहीं, लड़की का मुश्कुराते हुए हाँ में जवाब आया। अब सामने की सीट पर बैठे अंकल ये सब कुछ देख रहे थे तो उन्होंने लड़के से पूछा कि, 'बेटा' पाइल्स के लिए भी कुछ है क्या..............? 



दरअसल असम में एक स्वयंभू 'चुम्मा बाबा' को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जो चुम्मा लेकर लोगों का इलाज करने का दवा करता था। खैर अब ये बाबा पुलिस की गिरफ्त में है।  'चुम्मा बाबा' का दावा है कि उसके अंदर 'अलौकिक शक्तियां' हैं और यह बाबा महिलाओं की शारीरिक व मानसिक परेशानियों को दूर करने के लिए उनके गले लगकर और उनका चुंबन लेकर इलाज करता था। स्वयंभू बाबा स्थानीय लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया था और इस काम में उसकी माँ भी उसका साथ दे रही थी। 

Friday, July 27, 2018

ISME TERA GHATA MERA KUCH NAHI JATA | आइये जानते हैं इंटरनेट पर धूम मचाने वाले Viral Videos के बारे में

आजकल एक के बाद एक कई ऐसे वीडियो आ रहे हैं, जो इंटरनेट पर सनसनी मचाये हुए हैं या ये कहें कि लोगों को अपना दिवाना बना लिया और इंटरनेट पर वायरल वीडियो की लिस्ट में शामिल हो गए। आइये जानते हैं ऐसी ही कुछ वीडियोस के बारे में जो हाल ही में इंटरनेट पर वायरल हुयी हैं। 



इसमें तेरा घाटा मेरा कुछ नहीं जाता
सबसे पहले बात करते हैं ISME TERA GHATA MERA KUCH NAHI JATA | गजेंद्र वर्मा का ये गाना तो आप सबने सुना ही होगा और शायद देखा भी होगा। लेकिन इस गाने के ऑफिसिअल वीडियो पर भी शायद इतने व्यूज न आये हों जितने कि म्यूजिकली ऐप के द्वारा चार लड़कियों के जरिये बनाये गए एक छोटे से वीडियो क्लिप पर आ गए। आखिर कौन हैं ये चार लड़कियां जिन्होंने म्यूजिकली ऐप ही नहीं बल्कि यूट्यूब पर भी धमाल मचा रखा है। इन चारो लड़कियों ने इस गाने में ऐसा भयंकर स्पाइसी तड़का लगा दिया की बहुत ही तेज़ी से ये विडिओ क्लिप इंटरनेट पर वायरल हो गया। 

प्रिया प्रकाश वारियर
प्रिया प्रकाश वारियर (Priya Prakash Varrier) ने अपने फर्स्ट वीडियो में ही में नैन-मटका कर इंटरनेट पर सनसनी मचा दी थी। ये वीडियो इतना वायरल हुआ था कि एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश सोशल मीडिया पर छा गयीं और एक ही झटके में उनके लाखों फैंस और फॉलोवर बन गए।



डब्बू अंकल 
हाल ही में डब्बू अंकल या डांसिंग अंकल के नाम से फेमस हुए संजीव श्रीवास्‍तव हु-बहु गोविंदा की स्टाइल में डांस करके रातों रात फेमस हो गए। इनके वीडियो क्लिप को न सिर्फ इंडिया में बल्कि विदेशों में भी लोगों ने खूब देखा। एक वीडियो क्लिप वायरल होने के बाद और भी कई वीडियो आये और उसे भी लोगों ने खूब पसंद किया।

Dhinchak Pooja
Dhinchak Pooja को तो आप जानते ही होंगे। सबसे पहले इनका ही विडिओ इंटरनेट पर वायरल हुआ था। उनका एक गाना इतनी तेज़ी वायरल हुआ था की इन्होने एक ही झटके में इंटरनेट पर सुर्खियां बटोर ली।

Monday, July 23, 2018

आखिर क्यों एक साथ सैकड़ों बंदरों ने इन्हें घेर लिया

Hundreds of monkeys surrounded this person together | आखिर क्यों एक साथ सैकड़ों बंदरों ने इन्हें घेर लिया

कई सारी अचंभित कर देने वाली खबरें और कई सारी घटनाओं के बारे में आप दिन प्रतिदिन कुछ न कुछ सुनते होंगे और कुछ खबरें तो ऐसी होती हैं जो बिलकुल चौंका देती हैं..... और कोई भी व्यक्ति यह सोचने पर मजबूर हो जाता है कि आखिर यह कैसे हुआ।


आये दिन सोशल मीडिया साइट्स पर भी आपको कुछ न कुछ ऐसी वीडियो या पोस्ट जरूर मिल जाती होंगी। जिन्हें देखकर या पढ़कर आप उसके बारे में और जानने की इच्छा रखते हों लेकिन कुछ पोस्ट या वीडियो तो एडिटिंग के माध्यम से बनायीं गयी होती हैं और कुछ वाकई में सच साबित होती हैं। तो इस तस्वीर को देखकर भी जरूर आपके मन में आया होगा की। आखिर ये व्यक्ति कौन हैं और इतने सारे बंदरों के बीच कैसे पहुचे। 

Hundreds of monkeys surrounded this person together | आखिर क्यों एक साथ सैकड़ों बंदरों ने इन्हें घेर लिया

सैकड़ों बंदरों से घिरे हुए इस व्यक्ति का नाम कृष्णा कुमार है। जिनकी उम्र 79 साल है। पेशे से बाबा हैं और आप इस तस्वीर में देख सकते हैं की ये सैकड़ों बंदरों के बीच घिरे हुए हैं। दरअसल ये दृश्य उत्तर प्रदेश के रायबरेली का है और तस्वीर में दिखाई दे रहे ये व्यक्ति इन बंदरों को भोजन खिलाते हैं, जिसकी वजह से ये बंदर उनके ऊपर मंडराते रहते हैं।

Monday, July 16, 2018

पहली बार सेक्स के बाद लड़कियों के.... 18 साल से कम इसे न पढ़ें

पहली बार सेक्स के बाद लड़कियों के शरीर में होते हैं ये बदलाव

पहली बार सेक्स के बाद लड़कियों के शरीर में होते हैं ये बदलाव

सेक्स सिर्फ एक मनोरंजन नहीं है, बल्कि यह एक रोमांचक अहसास है। यदि सेक्स के बाद आपको बेहतर ऑर्गेज्‍म मिलते हैं तो क्या कहना है? सेक्स के दौरान आप जो भी शारीरिक गतिविधि करते हैं, आपके शरीर का प्रत्यक्ष प्रभाव आपके शरीर पर पड़ता है। सेक्स भी एक तरह का गहन कसरत है।

ये भी पढ़ें - Whatsapp आपके बारे में क्या क्या जानता है, ऐसे करें पता

लेकिन शायद ही आप जानते हों कि पहली बार सेक्स के बाद लड़कियों के शरीर में कई बड़े परिवर्तन होते हैं, यह हार्मोनल परिवर्तनों के कारण होता है। आइए अब हम आपको बताएं कि पहली बार यौन संबंध रखने के बाद महिलाओं के शरीर में क्या बदलाव होता है।

> पीरियड अनियमित हो सकता है। इसका कारण हार्मोन में बदलाव भी  है। लेकिन यदि पीरियड  की अवधि में देरी हो रही है, तो यह गर्भावस्था को भी इंगित कर सकती है।

ये भी पढ़ें - रिजर्वेशन ही नहीं अब जनरल टिकट भी बुक करें अपने मोबाइल पर

> इंग्लैंड में हुए एक शोध के मुताबिक यह साबित हुआ कि सेक्स के बाद, महिला मस्तिष्क अधिक सक्रिय हो जाता है। यह मस्तिष्क की कोशिकाओं में वृद्धि करता है। 

> जब एक लड़की अपनी पसंद और उसके पसंद के साथी के साथ यौन संबंध रखना शुरू करती है तो उसके स्तन भी बढ़ते हैं।

> अक्सर ऐसा होता है कि सेक्स के बाद, लड़कियों के हिप्स बढ़ने लगते हैं। लड़कियां इस घटना से डरती हैं, लेकिन यह एक आम बात है।

> सेक्स के बाद, लड़कियों के चेहरे पर चमक आने लगती हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि चेहरे पर चमक लाने के लिए सेक्स किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें - जानें भारत की इन जगहों के बारे में, जहां भारतीयों का ही जाना मना है

> कई बार ऐसा होता है कि सेक्स के बाद, लड़कियों का वजन बढ़ जाता है। यह तब होता है जब शरीर के हार्मोन में परिवर्तन होते हैं।

> महिलाओं के निपल्स को शरीर में सबसे उत्तेजित अंग माना जाता है। सेक्स के बाद, शरीर के अन्य हिस्सों जैसे निप्पल में एक अलग उत्तेजना होती है। निप्पल थोड़ा सा स्पर्श के साथ उत्तेजित हो जाते हैं।

Sunday, July 8, 2018

लड़कियों की कुछ ख़ास बातें जो वह किसी को नहीं बताती

ladkiyon ki baatein | लड़कियों की कुछ ख़ास बातें जो वह किसी को नहीं बताती

ladkiyon ki baateinहर कोई चाहता है की वह अपने पार्टनर के बारे में पूरी जानकारी रखे। उन्हें अच्छी तरह से समझे। लेकिन कभी कभी आपकी पार्टनर आपसे कुछ बातें नहीं कह पाती और वह चाहती है की आपको बिना कहे ही अंदाजा लग जाए। ऐसे में अगर आपको उसकी अनकही बातों को जान लेते हैं तो आपके प्यार और रिलेशनशिप में मिठास और भी बढ़ जाती है। तो चलिए जानते हैं ऐसी कौन कौन सी बातें हैं जो लड़कियां अपने पार्टनर से छुपाती हैं........ 

अपनी तारीफ सुनना
हर लड़की चाहती है की उसका पार्टनर उसकी तारीफ करे और वह यह बिलकुल नहीं चाहती की आपसे अपनी अच्छाइयां गिनाये, बल्कि आप खुद से उसे समझें और उसकी तारीफ करें। लड़कियों को अपनी तारीफ सुनना काफी जयादा पसंद है, बस ध्यान ये रहे की झूटी तारीफ करते हुए आप पकडे न जाएँ। 
ध्यान देना या केयर करना
लड़कियां चाहती हैं उनका पार्टनर उनकी छोटी छोटी बातों का ध्यान रखे, भले वह आपसे न कहें लेकिन जब आप उनकी केयर करते हैं तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है। 

ये भी पढ़ें - बाहुबली प्रभास और अनुष्का ने शादी की बात को लेकर तोड़ी चुप्पी

जबरदस्ती बातें मनवाना 
कुछ बातों पर देखा जाता है अक्सर लड़के अपनी बात मनवाने के लिए या ये कहें की अपनी मर्जी लड़की पर थोपने लगते हैं। ऐसे में वह आपकी बात मान तो लेती हैं लेकिन अंदर से घुटन महसूस करने लगती है, वह भले आपसे न कहे लेकिन अगर आप उसे समझ लें तो आप उसके दिल में जगह बना सकते हैं। 

बातें बनाना
जी हाँ! बातें बनाने में लड़कियां खूब एक्सपर्ट होती हैं, इनमें भी लड़कियों की काफी रूचि देखने को मिलती है। 

ये भी पढ़ें - निरहुआ की आने वाली फिल्म 'शेर-ए-हिन्दुस्तान'

रोमांस करना पसंद 
लड़कियां चाहती हैं की उनका पार्टनर उनसे रोमांटिक बातें करे भले ही वह ये बात आपसे न कहें लेकिन रोमांस में उनकी रूचि काम नहीं होती बल्कि वह चाहती हैं की उनके बिना कहे उनका पार्टनर उनसे प्यार और रोमांस करे। 

एक बात और बता दें की आपको भले याद न हो की सुबह आपने क्या खाया था लेकिन आपकी पार्टनर आपको बता सकती है की एक हफ्ते पहले आपने उन्हें क्या खिलाया था और वह कैसा लगा था। 

तो ऐसी ही कुछ छोटी छोटी बातों पर ध्यान देकर आप भी अपने पार्टनर का दिल जीत सकते हैं।

ये भी पढ़ें - डायबिटीज को करें कंट्रोल

Sunday, June 10, 2018

क्या आप जानते हैं भारत की इन जगहों के बारे में, जहां भारतीयों का ही जाना मना है


ये बात तो हर कोई जनता है कि आजाद भारत में हम कहीं भी आ जा सकते हैं और यह हमारा मौलिक अधिकार भी है। लेकिन आज हम भारत में मौजूद कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताने जा रहे जिसे जानकार आप हैरान हो जायेंगे, क्युकी ये जगहें भारत में भले ही हैं लेकिन भारतीयों का वहां जाना बिलकुल मना है।

Kasol_Israel_in_Himachal_Pradesh

कसोल
कसोल हिमाचल प्रदेश का एक छोटा सा गांव है। कम ही लोग इस बात को जानते होंगे कि यहां स्थित एक रेस्टोरेंट ऐसा है जहां भारतीयों के घुसने पर मनाही है। इस होटल के बारे में तब पता चला जब भारतीय महिला को अंदर आने से रोका गया और इस होटल के मालिक ने बताया के ये होटल सिर्फ इजरायली लोगो के लिए है। इस गांव को लोग मिनी इजरायल के नाम से भी जानते हैं क्योंकि यहां बड़ी तादाद में इजरायली आते है। 

Uno-In Hotel, (बंगलौर)
यह होटल सिर्फ जापानियों के लिए था। यहां भारतीयों का आना बिलकुल मना था। Uno-In Hotel बंगलौर में साल 2012 में शुरू किया गया था मगर साल 2014 में बंगलूरु सरकार ने इसे बंद कर दिया। 


puducherry beach

Puducherry के कुछ बीच
Puducherry भी एक टूरिस्ट स्पॉट माना जाता है। जहाँ कुछ-कुछ स्पॉट पे आपको केवल फॉरेनर्स ही दिखाई देंगे। इसके बारे में भी कहा जाता है की यहाँ भारतीयों के लिए नो एंट्री है। हालाँकि यह आधिकारिक तौर पर नहीं है। 


goa beach

Goa के कुछ बीच 
गोवा में भी कई बीचों पर भारतीयों का जाना मना है। यहां भी सिर्फ फॉरेनर्स की ही एंट्री है। फॉरेनर्स यहां आज़ादी से घूमते हैं। 

चेन्नई का एक होटल
ख़बरों के मुताबिक चेन्नई में स्थित एक होटल ऐसा है जहाँ सिर्फ विदेशियों की ही एंट्री है। कुछ लोग इसकी पहचान ‘हाईलैंड होटल’ के रूप में करते हैं, तो कुछ लोग पूर्व नवाब के घर ‘ब्रोडलैंड लॉज’ के तौर पर।

Saturday, June 9, 2018

सऊदी अरब में मॉडल की जगह ड्रोन ने किया रैंपवॉक

ramp-walk-by-drone-instead-of-model-in-saudi-arabia, सऊदी अरब में मॉडल की जगह ड्रोन ने किया रैंपवॉक

जैसा की आप जानते ही होंगे कि सऊदी अरब में आज भी महिलाओं पर कई तरह की पाबंदियां हैं। लेकिन अब धीरे-धीरे चीजें बदल रही हैं हालाँकि अभी भी यहां महिलाओं के फैशन शो में रैंपवॉक करने पर मनाही है। ऐसे में सऊदी अरब के डिजाइनर और आयोजकों ने रैंपवॉक करने के लिए एक अनोखा तरीका चुना और फैशन शो में मॉडल के बजाय एक ड्रोन से रैंपवॉक करवाया गया। हवा में उड़ने वाले ड्रोन की मदद से कपड़े प्रदर्श‍ित किए गए। हवा में उड़कर रैंप के एक हिस्‍से से दूसरे हिस्‍से तक महिलाओं के कपड़े और बैग जैसे एसेसरिज के साथ ड्रोन के जरिये 'कैटवॉक' कराया गया। मह‍िलाओं ने इस फैशन शो में बैकस्‍टेज का काम संभाला।

बता दें कि इस अनोखे तरीके को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। साथ ही इसकी वजह से इस फैशन शो को भूतिया फैशन शो करार दे दिया गया है। दरअसल, रैंप पर ड्रोन को एक-एक करके कई ड्रेसेज में दिखाया गया जिससे तस्वीरों को पहली नज़र में देखने पर कुछ ऐसा लग रहा था जैसे कपड़े हवा में उड़ रहे हों। खैर सोशल मीडिया पर तो इसे घोस्ट शो यानि भूतिया शो तक करार दे दिया गया और यही नहीं किसी ने यह भी लिखा कि लगता है कि सऊदी अरब में मह‍िलाओं से ज्‍यादा ड्रोन को अध‍िकार मिले हैं।

बता दें की सऊदी अरब में मह‍िलाएं फैशन शो नहीं कर सकती है, शायद इसलिए रैंपवॉक के लिए सऊदी अरब के फैशन डिजाइनरों ने यह अनोखा आईडिया निकला और इस का के लिए ड्रोन को चुना और हवा में उड़ने वाले इन ड्रोन की मदद से आसानी के साथ कपड़े प्रदर्श‍ित किए गए।

खैर आईडिया अनोखा भले ही हो लेकिन सोशल मीडिया पर हो रहे ट्रोल से साफ पता चलता है कि लोगों को उनका ये आइडिया बिलकुल भी पसंद नहीं आया और इससे यह भी साफ़ होता है कि टेक्नोलॉजी इंसान से जीत नहीं सकती।

Saturday, June 2, 2018

स्कूल बस का रंग आखिर ‘पीला’ ही क्यों होता है?

स्कूल बस का रंग आखिर ‘पीला’ ही क्यों होता है?

हमारे देश में वैसे तो कई तरह की चीजें हैं जिनके बारे में जानने का हर किसी का मन करता है। इसी में से एक सवाल ये है कि स्कूल की बसों का रंग हमेशा पीला ही क्यों होता है? बचपन से लेकर आज तक जब भी कोई स्कूल बस पर नज़र पड़ती है तो वो पीले रंग की ही होती है। 

चाहे शहर हो या गाँव, यहाँ तक कि विदेशों में भी स्कूल बसों का रंग पीला ही होता है। आखिर इस रंग का मतलब क्या होता है? ऐसा सवाल शायद आपके मन में भी आया हो और आपने भी इस बारे में जानने की कोशिश की हो, कई बार व्यक्ति कुछ चीजों के बारे में जानने का प्रयास तो करते हैं लेकिन कभी-कभी उन्हें सम्पूर्ण जानकारी नहीं मिल पाती है लेकिन आज हम आपको इसी विषय पर बताने जा रहे है ताकि आप भी जान सकें की स्कूल बस अक्सर पीले रंग की ही क्यों होती है। स्कूल की बसों का रंग हमेशा पीला होने की वजह ये है कि बाकी रंगों की तुलना में पीले रंग में 1.24 गुना ज्यादा आकर्षण होता है और अन्य किसी भी रंग की तुलना में ये आंखों को जल्दी दिखाई देता है और इस बात की पुष्टि 1930 में अमेरिका में सबसे पहले हुई। जी हाँ! और आपने यह भी देखा होगा कि सुरक्षा कारणों के लिए सड़क मार्गों पर लगाए गए ट्रैफिक लाइट और खास सांकेतिक बोर्डों को भी पीले रंग में रंगा जाता है। जैसा की हमने यह भी बताया कि पीला रंग अन्य रंगों की तुलना में आँखों को बहुत जल्दी दिखाई देता है इसलिए सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्कूलों की बसों का रंग पीला रखा जाता है ताकि हादसों को कम किया जा सके।

यहाँ Whatsapp, Facebook यूज़ करने वालों को देने होंगे टैक्स

यहाँ Whatsapp, Facebook यूज़ करने वालों को देने होंगे टैक्स

सोशल मीडिया आजकल अपनी बातों को दुनिया के सामने रखने का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म हो गया है। जरा सोचिए कि अगर सरकार सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर टैक्स लेने लगे तो कैसा रहेगा? जी हां, हुआ भी ऐसा ही है। युगांडा में वॉट्सऐप (whatsapp) और फेसबुक (facebook) का इस्तेमाल करने वालों को अब टैक्स देना होगा। राष्ट्रपति योवेर मुसेवनी ने हाल ही में इससे संबंधित कानून को मंजूरी दे दी है। इसके तहत यूजर्स को रोजाना 200 शिलिंग (करीब 3.36 रुपए) देने होंगे। 

अब वहां के नागरिकों को फेसबुक (facebook ), व्हाट्सऐप (whatsapp), वाइबर (viber) और ट्विटर (twitter) जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल के लिए हर रोज 3 रुपये 36 पैसे देने होंगे। सोशल मीडिया कानून में बदलाव के लिए पहल करने वाले देश के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी ने इस कानून का समर्थन करते हुए कहा कि यह कानून इसलिए लागू किया जा रहा है ताकि सोशल मीडिया पर फालतू की बातचीत और अफवाहों (गॉसिप) को रोका जा सके। यह कानून 1 जुलाई से लागू हो जाएगा लेकिन इसे किस तरह से लागू किया जाएगा, इस बात को लेकर अब भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। 

सोशल मीडिया कानून में बदलाव के लिए पहल करने वाले देश के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी ने मार्च में कहा था कि सोशल मीडिया फालतू की बातचीत और अफवाहों (गॉसिप) को बढ़ावा देता है। मुसेवेनी ने कहा कि सोशल मीडिया से प्राप्त कर से देश में गपशप और अफवाहों (गॉसिपिंग) के दुष्प्रभावों से निपटने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही इससे देश के बढ़ते राष्ट्रीय कर्ज को चुकाने में भी मदद मिलेगी।

Tuesday, May 29, 2018

कार से उड़ान भरने की तैयारी, ट्रैफिक जाम से मिलेगा छुटकारा

कार से उड़ान भरने की तैयारी, ट्रैफिक जाम से मिलेगा छुटकारा

शहरों में आये दिन सड़कों पर जाम लगना कोई नयी बात नहीं है।  सोचिये जब आप भी किसी जाम में फंसे हों और लाख तरकीबें अपनाने के बाद भी आपको कहीं से रास्ता न मिले और जाम में खड़े होकर जाम खत्म होने का इंतज़ार कर रहे हों या अपनी मंजिल तक पहुँचने के लिए धीमी रफ़्तार से चल रहे हों तो आपके मन में कैसे कैसे सवाल उठेंगे। काश की मैं उड़ने वाली कार में होता! तो आसानी से इस जाम से निकल जाता। यही नहीं ट्रैफिक जाम की वजह से जिस स्थान पर दस मिनट में पहुंचना चाहिए, वहां लोग दो-दो घंटे में पहुंच रहे हैं। सड़कों पर गाड़ियों का भारी दबाव है। यातायात व्यवस्था चरमरा सी गई है। इसे देखते हुए आइआइटी कानपुर के विशेषज्ञ उड़ने वाली कार के निर्माण में लग गए हैं। यह कार सीधे 'टेक ऑफ' और 'लैंडिंग' कर सकेगी। इसके लिए रनवे की जरूरत नहीं पड़ेगी।संस्थान ने कार के निर्माण के लिए विटॉल एविएशन कंपनी से 15 करोड़ का करार किया है। एयरोस्पेस इंजीनियरिंग विभाग अगले पांच साल के अंदर 800 से 1000 किलोग्राम का प्रोटोटाइप मॉडल तैयार करेगा। सफल परीक्षण के बाद कार को मुंबई में तैयार किया जाएगा, जहां इसकी फैक्ट्री लगाने की योजना है। मॉडल को मेक इन इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत तैयार किया जाएगा।

एयरोस्पेस विभाग हवा में उड़ने वाली टू सीटर कार बना रहा है। यह अधिकतम 12 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ सकेगी। न्यूनतम ऊंचाई 1000 फीट रहेगी। कार इलेक्ट्रिक पावर और कंबशन तकनीक पर काम करेगी। इसकी गति 90 से 100 मीटर प्रति सेकंड होगी। विशेषज्ञों के मुताबिक, हवा में उड़ने वाली कार में सुरक्षा की खास व्यवस्था होगी। कई तरह के सेंसर लगे रहेंगे। किसी तरह की आपदा होने पर किस तरह से पैराशूट का इस्तेमाल किया जाए, उस पर मंथन चल रहा है। इंजन में कम से कम आवाज हो, एयर ट्रैफिक को नुकसान न पहुंचे, इस पर भी काम चल रहा है।

सेना के रेस्क्यू ऑपरेशन में काम लाया जा सकता है

एयर टैक्सी को सेना के रेस्क्यू ऑपरेशन में काम लाया जा सकता है। अमूमन एयरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर के इंजन से काफी आवाज आती है, जिसकी वजह से दुश्मनों को उसके आने की जानकारी मिल जाती है। पहाड़ी और बर्फ वाले क्षेत्रों में भी इसे उड़ाना आसान होगा।

Monday, May 28, 2018

पुलिस में एक दमदार पुरूष की भूमिका निभाने के लिए लिंग परिवर्तन कर ललिता से ललित बनने की कहानी


पुलिस में अपनी सेवा देने का ऐसा जज्बा कि इस शख्स ने अपना लिंग परिवर्तन ही करा डाला। दरअसल ये रोचक कहानी मुंबई के ललित कुमार साल्वे की है। जिसका जन्म एक लड़की के रूप में हुआ था और उस समय उसका नाम ललिता रखा गया था। लेकिन ललिता से ललित बनने की इनकी कहानी भी दिलचस्प है। फिलहाल मुंबई के सेंट जॉर्ज अस्पताल में अपने लिंग परिवर्तन के लिए सर्जरी के दौर से गुजर रहे हैं।

अस्पताल के बिस्तर पर पड़े ललित दर्द में भी मुस्कुराते हुए कहते हैं कि, मैं बस उस दिन का इंतजार कर रहा हूं जब मैं अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर पाऊंगा। मैं अपने शर्ट के ऊपर लगे ललित कुमार साल्वे का टैग देखने के लिए बेहद उत्साहित हूं।

ललित ने कहा कि हालांकि मैं दर्द में हूं, लेकिन जब भी कोई मुझे ललित नाम से पुकारता है तो मेरा दर्द गायब हो जाता है। उन्होंने वहां उपस्थित सभी रिपोर्टर्स का मुस्कान के साथ स्वागत किया और उनके साथ खड़े रहने के लिए उनका धन्यवाद किया।

17 नवंबर 2017 से ही ललित ने पुलिस फोर्स में एक पुरुष की पहचान पाने के लिए संघर्ष शुरू की थी। कई महीनों तक पुलिस अधिकारियों और राज्य सरकार को आवेदन लिखने के बाद आखिरकार उसे अपनी सर्जरी के लिए हरी झंडी मिल गई ताकि वह अपनी पहचान पा सके। वह पहली बार ललिता नहीं बल्कि ललित नाम के साथ अपनी ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए बेहद उत्सुक है।

हालांकि अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. मधुकर गायकवाड़ का कहना है कि, 29 वर्षीय ललित को खाकी ज्वाइन करने से पहले रिकवरी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। हालांकि वह काफी तेजी से सुधार कर रहा है लेकिन वह काफी कमजोर है और उसे कुछ दिनों के लिए बेड रेस्ट की जरूरत है। दो सप्ताह के बाद ही उसे डिस्चार्ज कर सकते हैं। इसके बाद उसे घर भेजा जा सकता है लेकिन फिर भी उसे दो महीने तक ड्यूटी ज्वाइन नहीं करना होगा। वर्तमान में उसे लिक्विड डाइट जैसे नारियल पानी, सूप और जूस पर रखा गया है।

ललित का पूरा परिवार पूरी लड़ाई में शुरू से उसके साथ खड़े रहे। माता केसरबाई साल्वे ने कहा कि वे उनसे बात करने के लिए कब से इंतजार कर रही है। जब उनकी माता से पूछा गया कि क्या उन्हें ललित की स्थिति के बारे में पहले पता था। इस पर केसरबाई ने कहा कि उन्हें पहले नहीं पता था क्योंकि वे उसे पहले लड़कियों की तरह कपड़े पहनाते थे लेकिन अचानक से एक दिन उसका व्यवहार बदल गया और वह पुरूषों जैसे व्यवहार करने लगा।

उनके भाई ने कहा, अब मैं उसे दीदी की जगह दादा बुला सकता हूं। वे हमारे लिए हमेशा से प्रेरणादायक रहे। अपनी मेहनत और लगन के लिए पुलिस में उनका काफी सम्मान किया जाता है।

Thursday, May 24, 2018

स्टेडियम : इतना खूबसूरत कि यहां मैच नहीं स्टेडियम देखने आते हैं लोग



हिमाचल प्रदेश की खूबसूरत वादियों के बीच बना धर्मशाला का ये स्टेडियम बेहद खूबसूरत है। इस स्टेडियम में आप मैच के साथ प्रकृति के सुंदर नजारे का आनंद उठा सकते हैं।

सिर्फ भारतीय ही नही बल्कि विदेशी खिलाड़ी भी इस स्टेडियम की खूबसूरती के दीवाने हैं। पहाड़ों के जादुई दृश्य से घिरे इस स्टेडियम की फोटो ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने सोशल मीडिया पर शेयर की थी और उसकी काफी तारीफ भी की थी।

समुद्रतल से 1457 मीटर की ऊँचाई पर स्थित धर्मशाला के इस स्टेडियम में 23 हजार दर्शकों केबैठने की व्यवस्था है


इस स्टेडियम में पहला वनडे मैच जनवरी 2013 में खेला गया था जबकिपहला टी-20 मैच अक्टूबर 2015 में खेला गया था।

loading...

Popular Posts

लेटेस्ट ख़बरों के लिए सब्सक्राइब करें